वजन घटाने का घरेलू उपाय – Weight Loss Ayurvedic Tips in Hindi

0
2207

मोटापा कम कीजिये और स्वस्थ रहिये

waight loss aayurvedik tips

आधुनिक युग में हर व्यक्ति स्वस्थ शरीर रखना चाहता है, जिसे व्यायाम और संतुलित  आहार द्वारा शरीर से अतिरिक्त कैलरी घटा कर प्राप्त किया जा सकता है।

मानव शरीर की रचना पंच तत्वो से होती है। पृथ्वी, अग्नि, जल, आकाश और वायु। इन पंच तत्वो से निर्मति मानव शरीर को जीवंत रहने के लिए और ऊर्जा प्राप्त करने के लिए संतुलित आहार ग्रहण करना परम आवश्यक है। हर किसी के लिए नित्य व्यायाम और योग करना लाभदायी होता है। खानपान में लापरवाही और अनियमित दिनचर्या मानव शरीर को मोटापे और तरह-तरह की बीमारियों की तरफ धकेलती है।

इस दुनिया में जितने लोग खाने की कमी से नहीं मरते उससे कहीं ज्यादा अधिक खाने कि वहज से मर जाते है।

आज का इन्सान पैसे की दौड़ में जी तोड़ महेनत करता है। और उसी भाग दौड़ में अपने सच्चे सुख “स्वास्थ्य” की और ध्यान देना भूल जाता है। किसी के पास दुनिया  भर की दौलत हो, पर उसे खुद पर खर्च ना कर पाये, उसे भोग ना सके, तो वह धन ना होने के बराबर होता है। इसीलिए धन-दौलत कमाना जरूरी है, पर साथ-साथ खुद का स्वास्थ्य संभालना भी बेहद जरूरी है। हर एक इन्सान को अपने जीवन में दिन के 24 घंटे में से 1 घंटा अपने शरीर की और ध्यान लगाने के लिए अवश्य निकालना चाहिए।

मोटापा सिर्फ अपने आप में एक समस्या नहीं है बल्कि इसका रिश्ता बहुत सी गंभीर बीमारियों से है, जैसे की..

डायबिटीज
हाइ ब्लड प्रैशर
कुछ खास प्रकार के केन्सर
अनिंद्रा की बीमारी
किडनी की बीमारी
लिवर में मेद जमा होने से लीवर खरब होने की बीमारी

weight loss ayurvedic tips

वजन कम करने के आयुर्वेदिक और घरेलू उपाय

  • एक ग्लास थोड़ा गरम पानी लेकर उसमे एक चम्मच काली मिर्च पाउडर और चार चम्मच नींबू पानी तथा एक चम्मच शहद मिला कर नित्य हर रोज सुबह पीने से वजन कम होता है।
  • सुबह में गरम पानी में नींबू निचोड़ कर उसमे एक चम्मच शहद मिला कर रोज पिये तो भी वजन कम होता है।
  • गोभी के पत्ते वजन कम करने के लिए काफी लाभदायी होते है। कच्चे सलाड में गोभी के पत्ते उबाल कर, या फिर कच्चे खाने से वजन कम होता है।
  • भोजन के पहले टमाटर का सूप पीने से या टमाटर कच्चे खाने से भी वजन कम होता होता है।
  • अखरोट, पत्ता गोभी, फूल गोभी, संतरे, शिमला-मिर्च, टमाटर, नींबू का सेवन करें।
  • सुबह का नाश्ता मध्यम मात्रा में, दोपहर का खाना भर पेट खाइये क्योंकि दोपहर के समय पाचन तंत्र सबसे ज्यादा सक्रिय होता है।
  • रात का खाना सोने से 3-4 घंटे पहले लीजिये। रात्री का समय सोने के लिए होता है, इसलिए पाचन तंत्र को भोजन पचाने के लिए अधिक श्रम करना पड़ता है। रात का खाना कम केलेरी वाला होना चाहिए।
  • खाना जल्दबाजी में न खाएँ, वैसा भोजन करें, जो आसानी से पचे। चबा-चबाकर भोजन करें।
  • खाना हो सके तो थोड़ा गरम कर के ही खाइये। गरम किया हुआ खाना, या गरम पका हुआ खाना ठंडे खाने के मुक़ाबले ज़्यादा जल्दी पचता है।
  • पूरे दिन के समय थोड़ा-थोड़ा करके पानी पीते रहेना चाहिए ताकी खाना पचता रहे। भोजन को पचाने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। खाते समय पानी नहीं पीना चाहिए।
  • हर ऋतु पर आने वाले फल का आहार करना चाहिए।
  • हर दिन के भोजन में तीखा, मीठा, फीका, सादा, चटपटा, खट्टा आदि सारे स्वादों का आनंद लीजिये। क्योंकि हर एक स्वाद का प्रकार मानवीय शरीर के पाचनतंत्र को खाना हजम करने में अलग अलग तरीके से सहायक बनता है।
  • हर दिन 7-8 घंटे सोना शुरू कीजिए। इससे ज्यादा या कम सोने से वजन बढ़ता है। खाना खाने के तुरंत बाद कभी न सोएं।
  • खाना घर पर हीं खाने की आदत डालें। कभी-कभा हीं बाहर की चीजें खाएँ। फ़ास्ट फ़ूड और पैकेट बंद फ़ूड नहीं के बराबर खाएँ। कोल्डड्रिंक का सेवन न करें।
  • ब्रेड, पास्ता को भोजन से हटाकर फल और सब्जियों को अपने भोजन का हिस्सा बनाइए।
  • रात में सोने से पहले ताम्बे के जग में 2-3 ग्लास पानी रखें। फिर सुबह उठने के बाद, बिना मुँह धोए उस पानी को पिएँ।
  • खाना खाने के आधा या एक घंटे बाद हीं ज्यादा मात्रा में पानी पिएँ।
  • सप्ताह में एक दिन उपवास करना शुरू करें। उस दिन केवल पानी, नींबू पानी, दूध, जूस, सूप सलाद या फल लें।
  • तनावमुक्त रहे बिना वजन कम नहीं किया जा सकता है।
  • कच्चे या पके हुए पपीता का नियमित सेवन कीजिए। इससे आपके शरीर में अतिरिक्त चर्बी नहीं जमा होगी और वजन तेजी से घटेगा।
  • दही या छाछ का नियमित सेवन करना शुरू कीजिए इससे भी आपके शरीर की फालतू चर्बी घट जाएगी।

वजन घटाने के लिए खानपान

  • वजन घटाने के लिए सुबह उठ कर कुछ भी खाये बिना शुद्ध पानी पीना लाभ दायी होता है। और अगर वह पानी पूरी रात पीतल के बरतन में भर कर रखा हुआ हो तो और भी फायदेमंद होता है।
  • बिना कुछ खाये पानी पी कर कसरत करने और चलने से शरीर की नसों को ऊर्जा प्राप्त होती है। तथा मन प्रफुल्लित होता है।
  • ग्रीन टी और नींबू पानी भी वजन घटाने के लिए काफी उपियोगी है।
  • नाश्ते के पहले सुबह या दोपहर में खाने के दो तीन घंटे बाद ग्रीन टी और नींबू का रेगुलर सेवन वजन कम करने मे मदद रूप साबित होता है।
  • पका हुआ नींबू और शहद मिला कर पीने / चाटने से भी वजन कम हो सकता है।
  • एसिडिटी ना हो तब – रात को हल्दी वाला पतला दूध (बिना मलाई वाला) पीने से भी वजन घटाने में मदद मिलती है।
  • त्रिफला, आमला और हरड़े, दाँत और पेट के लिए उत्तम होते हैं। इसलिए त्रिफला, आमला और हरड़े का नित्य सेवन करें।
  • वजन नियंत्रित करने के लिए ताजा सब्जियाँ, फल और बीन्स का आहार उत्तम रहता है। जैसे कि ककड़ी, खीरा, मूली, चना, मूंग, मटर, पपीता, गाजर और हर प्रकार की दाल खाना हितकारी होता है।
  • स्वदेशी मसाले जैसेकि हींग, अजवायन, काली मिर्च, लौंग, और कड़ीपत्ता जेसे देसी मसाले अगर खाने में सही मात्रा में डाले जाते रहें तो पाचन तंत्र को खाना हजम करने में मदद मिलती है। और पेट साफ रहने के कारण शरीर में फैट जमा नहीं होता है।
  • प्रति दिन थोड़े मात्रा में ड्रायफ़ृट्स – बादाम, पिस्ता, अंजीर, काजू, और किशमिस खाने से प्रोटीन विटामिन मिलते है और पाचन तंत्र भी अच्छा रहता है।
  • खाने के बाद तुरंत पानी पीना तेजी से वजन बढाता है।
  • खाना थोड़ी-थोड़ी मात्रा में ज्यादा बार खाने से पाचन तंत्र को श्रम कम पड़ता है जिस से अपाचन नहीं होता और चरबी भी नहीं बढ़ती।
  • शक्कर वाले शरबत, मीठे पकवान, संचय किया हुआ खाना, कोल्ड्रिंक्स, बेकरी प्रोडक्टस (ब्रैड, पाव), और बीयर वजन बढ़ाते है।
  • तला हुआ खाना, देसी घी, आलू, मैदा युक्त व्यंजन, चावल, चीनी आदि चरबी बढ्ने में सब से अहेम भूमिका निभाते है।

weight-loss-running-stairs-cardio

वजन घटाने के लिए व्यायाम

  • तंदरुस्त जीवन का मूल मंत्र व्यायाम है। व्यायाम और योग बीमारियों को मानव शरीर से दूर रखता है। स्फूर्ति प्रदान करता है। और प्रतिकार शक्ति बढ़ता है। समतोल आहार और व्यायाम का सही संगम मानव शरीर को लोहे जैसा मजबूत बना देता है।
  • लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का उपयोग करना चाहिए।
  • प्रति दिन एक से तीन किलोमीटर वॉक करना चाहिए।
  • आयुर्वेद शास्त्र के मुताबिक सूर्यास्त के बाद जितना जल्दी हो सके सो जाना और सूर्योदय होने से पूर्व उठ  जाना शरीर के लिए उत्तम होता है।
  • प्राणायाम, कपालभाती, शीर्षासन, मयूरआसन, धनुरासन, पवनमुक्तआसन, सूर्य नमस्कार, बटरफ्लाइ इत्यादि  कसरतें काफी जल्दी से शरीर को फायदा देती है।
  • टीवी देखने और विडियो गेम्स खेलने की वजाय बाहर मैदान मे जाकर दौड़ भाग कर के खेले जाने वाले खेल खेलना कलेरी बर्न करता है।
  • हल्के सूर्य की रोशनी में चलने से पसीना जल्दी आता है। और पसीना आने से कलरी जल्दी बर्न होती है।
  • नींद अगर पूरी ना हो पाये तब भी वजन बढ़ सकता है। अनिंद्रा के कारण शरीर वजन बढ़ाने वाले होर्मोन त्याग करता रहता है। इसलिए रात को पर्याप्त नींद लेना आवश्यक है।

आधुनिक समय में परिश्रम और अनुशासन के बिना वजन कम करने के विज्ञापन देने वाली कंपनियों की भरमार है। बहुत सारे लोग तुरंत परिणाम पाने के चक्कर में ऐसा आसान रास्ता चुनते है और अपनी मेहनत की कमाई गंवाते है। तुरंत वजन कम करने वाली दवाइयों के कई साइड एफ़ेक्ट्स भी होते है। और कई बार इनसे गंभीर बीमारियाँ भी हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here